Type of Flip-Flop in Hindi-फ्लिप फ्लॉप कई प्रकार की होती है?

हेल्लो दोस्तों आपको flip-flop के बारे में बताया जा चूका है आज इस पोस्ट में Type of Flip-Flop in Hindi के बारे में दिया गया है तो चलिए शुरू करते है

Flip-Flop कई प्रकार की होती है

1.RS Flip-Flop /SR Flip-Flop

RS Flip-Flop को NOR gate या NAND gate की सहायता से बनाया जाता है NOR gate की सहायता से बना RS Flip-Flop परिपथ प्रदशित है जिसमे दो NOR gate को cross couple किया गया है Flip-Flop(Type of Flip-Flop in Hindi) का दो output Q तथा(Q बार) |

Q तथा(Q बार) सदैव परस्पर Complementary होती है flip-flop की दो input R(reset) तथा S(set) है RS Flip-Flop के सभी संभव input/output logic सत्य निम्न प्रकार से किया गया है

Condition

  1. यदि R=0 & S=0 तो flip-flop की अवस्था(state) में कोई change(no change) नहीं होगा क्योकि NOR gate के input पर 0 output को प्रभावित नही करता है अत: flip-flop अपनी पहले वाली state में ही रहेगा
  2. यदि S=0 & R=1 तो flip-flop reset हो जायेगा अर्थात output state 0 हो जायेगा अत: R=1 & S=0 apply करने के पूर्व flip-flop की state कुछ भी हो(1/0), पर R=1 ,S=0 पर apply करने के पश्चात् 0 हो जायेगा
  3. यदि R=0 & S=1 तो flip-flop की set हो जायेगा अर्थात output state 1 हो जायेगा अत: R=0 & S=1 apply करने के पूर्व flip-flop की state (0/1) कुछ भी हो R=0 & S=1 apply करने के पश्चात् 1 हो जायेगा
  4. यदि R=1 & S=1 तो flip-flop allow नहीं होगा अर्थात not allowed ,क्योकि एक समय पर Q=0 तथा  flip-flop के परिभाषा के अनुसार flip-flop का एक output Q दूसरी output  का complement होता है अत: flip-flop में  input (R=1  & S=1) प्रयुक्त नही की जा सकती है

clocked RS flip-flop

अधिकांश flip-flop clock type के होते है जिसकी state एक नियम दर से परिवर्तित होती है इसके द्वारा signal को digital system में एक दुसरे के साथ साथ synchronous(सिक्रोनाईस) किया जाता है जो digital computer में विशेष महत्त्व रखता है

clock pulse किसी मास्टर(master) pulse के प्रयोग करके उत्पन की जा सकती है clocked flip-flop में state परिवर्तन केवल clock के द्वारा ही किया जाता है कुछ परिस्थितियों में अवस्था परिवर्तन clock के चढ़ते सिरे तथा उतरते सिरे पर होता है

2. J-K flip-flop

J-K flip-flop एक अत्यंत उपयोगी flip-flop होता है इसका प्रयोग Counters में किया जाता है J-K flip-flop को R-S flip-flop की सहायता से implement किया जाता है इसमे Q तथा  inputs को वापस clock pulse वाले AND gate में feedback किया गया है इस feedback की सहायता से J=K=1 input संभव हो पाती है

 


 

Condition

  1. यदि J=0 & K=0 तो दोनों AND gate disable रहेगा अत: flip-flop की दोनों input low रहेगा तथा output में कोई परिवर्तन नही होगा
  2. यदि J=1 & K=0 तो Q तथा है तो AND gate 1 enable हो जायेगा अत: R-S flip-flop में S input में 1 हो जायेगा और R input में 0 हो जायेगा
  3. यदि J=0 & K=1 देने पर इस दशा में flip-flop reset हो जायेगा
  4. यदि J=1 & K=1 तो इस दशा में flip-flop का output toggle हो जायेगा क्योकि J=K=1 पर AND gate 2 enable हो जायेगा

3.T flip-flop

T flip-flop में केवल एक input होती है यह flip-flop(Type of Flip-Flop in Hindi) में output से input को feedback देकर बनाया जाता है इसे हमे toggle flip-flop भी कहा जाता है

इस flip-flop में एक बहुत कम चौडाई की trigger(ट्रिगर) pulse की एक train input (T) को drive करती है प्रत्येक trigger pulse आने पर flip-flop की output बदलती है

4.D flip-flop

D flip-flop में केवल एक input की आवश्यता होती है सामान्य: RS flip-flop में दो data input R तथा S लाइन की आवश्यकता होती है

किसी high bit की स्टोर करने के लिए S(set) input तथा low bit को स्टोर करने के लिए R(reset) input का प्रयोग किया जाता है इस प्रकार flip-flop के लिए दो signal की आवश्यकता होती है

Condition

  1. यदि D=0 तो flip-flop reset(R) हो जायेगा
  2. यदि D=1 तो flip-flop set(S) हो जायेगा

5.RST flip-flop(reset-set taggle)

RST flip-flop में दो flip-flop ,RS flip-flop तथा T-flip-flop होता है RST flip-flop में तीन input R S & T होता है कभी –कभी toggle प्रक्रिया करने से पहले flip-flop को reset(R) अथवा S(set) करना पड़ता है इसमे R व S टर्मिनल पर bubble अवस्था में परिवर्तन होता है (इसका अर्थ है की negative state) में active होते है अर्थात output state में परिवर्तन होता है जब S=R=1 state में हो तो flip-flop एक सामान्य T-flip-flop की भाति कार्य करता है

Condition

  1. यदि हम S पर position input दिया जाता है तो वह set हो जाता है तथा Q=1 हो जायेगा
  2. यदि हम R पर position input दिया जाता है तो वह reset हो जाता है तथा output हो जायेगा
  3. यदि हम T input flip-flop पर negative input देते है तो वह toggle हो जाता है i.e(invertaged/change)

Race Around condition of J-K flip-flop

यदि J.K flip-flop में लम्बे समय तक high रहता है input condition J&K=1 ,तब output toggle हो जायेगा तब 1->0 तथा 0->1 तो इसे हम Race Around condition कहा जाता है

Master-Slave flip-flop

Master-Slave flip-flop में J-K flip-flop प्रदशित होता है इसमे दो clocked J-K flip-flop का Combination होता है जिसमे से पहला को मास्टर तथा दूसरी को slave को कहा जाता है slave को negative clock किया जाता है

  1. यदि clock high है तो master active रहता है तथा slave inactive रहता है
  2. यदि clock low है तो master inactive रहता है तथा slave active रहता है

clock के rising edge पर master active रहता है तथा J&K के अनुसार अपनी अवस्था को change करता है

3.यदि J=1 तथा K=0 है तब master positive clock edge पर set हो जाता है जिससे इसकी high output Q slave के J input को drive करता है इसी प्रकार जब negative clock edge आती है तो master की भाति set हो जाता है

4 .यदि J=0 & K=1 तो master flip-flop pulse की leading पर reset हो जाती है जिससे इसकी high output  slave के K input को drive करता है इसी प्रकार clock pulse training edge पर slave reset हो जाता है

Preset तथा clear

flip-flop में जिस समय power on की जाती है तब परिपथ की अवस्था अनिश्चित होती है यह अवस्था set(Q=1) अथवा reset(=0) पर कोई भी हो सकता है प्राय: परिपथो में flip-flop को प्रारंभ में set अथवा reset करने की आवश्यकता होती है यह flip-flop में सीधे या asynchronous input के द्वारा किया जाता है यह input preset (pr) तथा clear(cr) input कहलाता है

preset(pr) तथा clear(cr) input clock pulse के मध्य किसी भी समय प्रयुक्त की जा सकती है यह input clock के साथ synchronise नहीं होती है

Type of Flip-Flop in Hindi

reference-https://www.geeksforgeeks.org/flip-flop-types-their-conversion-and-applications/

निवेदन:-आप सभी छात्र –छात्रों से निवेदन है की अगर आपको ये Topic(Type of Flip-Flop in Hindi)अच्छा लगा हो तो कृपया आप इस वेबसाइट के बारे में अपने दोस्तों को जरुर बताये अगर कोई topic से संबधित प्रश्न हो तो कमेंट्स(comments) आपके लिए ही बना है और किसी Subject के लेकर भी कोई प्रश्न हो तो कमेंट करे

“आपका comments हमारे लिए बहुमूल्य है “   *_*धन्यवाद

Leave a Comment