What is JSP(java server page) in hindi-JSP क्या होता है?

हेल्लो दोस्तों आज के इस पोस्ट में आपको JSP  in hindi के बारे में बताया गया है की इसे कैसे प्रयोग करते है तो चलिए शुरू करते है

JSP(java server page) का परिचय

  • jsp(java server page ) एक server side technology होता है इसे dynamic web page को create करने के लिए प्रयोग किया जाता है basically इसे java web application को develop करने के लिए create किया गया है
  • jsp technology java api(application program interface) को access कर  सकती है जिससे की आप java based web application को create करना और भी आसान हो जाता है
  • jsp technology पूरी तरह से servlet technology के विपरीत काम करती है servlet technology में जहा आप java program के अन्दर html script को include करते है वाही jsp technology में आप html script में java प्रोग्राम को include करते है
  • हलाकि एक jsp page भी आउटपुट के रूप में servlet को generate करती है लेकिन jsp में आप coding actual servlet से कई गुना अधिक आसन होती है
  • एक jsp page को html और jsp tags से मिलकर बना होता है jsp tags की मदद से आप java APIs को प्रयोग करते है इन tags की मदद से आप अपने कितने बड़े प्रोग्राम को आसानी से अपने webpage में include कर सकते है
  • इस प्रकार से आप एक web application को create कर सकते है जो की पूरी तरह से java based होता है
  • example के लिए html से आप सिर्फ web page को design करते है यदि आप web page में कोई functionality को add करना चाहते है या उसे dynamic बनाना चाहते है तो आप JSP technology का प्रयोग कर सकते है
  • जैसे की आप एक converter को create करना चाहते है जो की binary numbers को decimal में convert करता है इसके लिए आप logic part को पूरा java में लिख सकते है
  • और jsp की मदद से आप इसे web page में include कर सकते है इस प्रकार के आप एक java based web application को create कर सकते है

हलाकि web application आप और भी बहुत सी दूसरी language के साथ create कर सकते है लेकिन java सबसे secure ,powerful और popular language होता है इसलिए एक java based web application दूसरी web application से fast secure और better मानी जाती है

difference b/w servlets and jsp technology

JSP(java server page)

servlet

jsp page, servlets से show होते है क्योकि इन्हे compile होकर servlet में convert होने में time लग जाता हैservlets jsp से fast होते है क्योकि ये पहले से compiled होते है और directly execute होते है
jsp automatic page compilation को provide करती है जिससे application को बार बार deploy करने की जरुरत नहो होती है jsp में किये गए changes live होते हैजब भी आप servlet program में कोई change करते है तो आपको बार बार उसे compile करके run करना होता है
jsp सिर्फ html का requests ही handle करता हैservlet सभी प्रकार के protocol के requests को handle करते है
jsp में coding करना आसान होता हैservlet programs बहुत ही lengthy होते है और उनकी coding भी बहुत difficult होती है
jsp में आप एक html script में java प्रोग्राम को add करते हैservlets में आप java प्रोग्राम में html के script add करते है
jsp logic और design separate हो जाती हैservlets में logic और design combined होते है

JSP  in hindi

reference-https://www.tutorialspoint.com/jsp/index.htm

निवेदन:-आप सभी छात्र –छात्रों से निवेदन है की अगर आपको ये Topic(JSP  in hindi) अच्छा लगा हो तो कृपया आप इस वेबसाइट के बारे में अपने दोस्तों को जरुर बताये अगर कोई topic(JSP  in hindi) से संबधित प्रश्न हो तो कमेंट्स(comments) आपके लिए ही बना है और किसी Subject के लेकर भी कोई प्रश्न हो तो कमेंट करे

Leave a Comment