what is anomalies in hindi

2 एनोमलीज़ क्या है? (What is Anomalies?)

– डेटा रिडन्डैन्सी (Data Redundancy) के कारण किसी डेटाबेस सिस्टम में उत्पन्न होने वाली समस्याओं को एनोमलीज़ (Anomalies) कहा जाता है। डेटा रिडन्डैनसी (Data Redundancy), स्टोरेज स्पेस (Storage Space) की बर्बादी एवं डेटा इन्कसिस्टैन्सी (Data Inconsistency) जैसी समस्याएं उत्पन्न कर सकती हैं। किसी डेटाबेस सिस्टम में निम्न तीन प्रकार की एनोमलीज़ (Anomalies) विद्यमान हो सकती हैं

(1) अपडेट एनोमली (Update anomaly) (2) इन्सर्शन एनोमली (Insertion anomaly) (3) डिलीशन एनोमली (Deletion anomaly)

अपडेट एनोमली (Update Anomaly), डेटा रिडन्डैन्सी (Data Redundancy) के कारण घटित होती है। रिडन्डैन्ट इन्फॉर्मेशन (Redundant Information) अपडेट्स (Updates) को अपेक्षाकत अधिक कठिन बनाते हैं। अपडेट एनोमली (Update Anomaly) के कारण डेटा इन्कसिस्टेन्सी (Data Inconsistency) होती है।

जब आप किसी रिलेशन टेबल की प्राइमरी ‘की’ (Primary Key) की वैल्यू की आपर्ति किए बिना उस रिलेशन/ टेबल में एक नया ट्यूपल (Tuple) रिकॉर्ड (Record) इन्सर्ट (Insert) नहीं कर सकते हैं तो इसे इन्सर्शन एनोमली (Insertion Anomaly) कहा जाता है। उदाहरण के लिए, STUDENT नामक रिलेशन टेबल में एक नये छात्र (Student) के ट्यूपल (Tuple)/ रिकॉर्ड (Record) को तब तक इन्सर्ट (Insert) नहीं किया जा सकता है जब तक कि वह छात्र किसी कोस (Course) में एनरोल (Enroll) नहीं होता है।

किसी रिलेशन (Relation)/टेबल (Table) से किसी ट्यूपल (Tuple) रिकॉर्ड (Record) को डिलीट (Delete)

ता

 

 

 

SHREE

 

 

75

करने पर यदि रिलेटेड (Related) रिलेशन (Relation)/टेबल (Table) से महत्वपूर्ण इन्फॉर्मेशन का लॉस (Loss) होता है लीशन एनोमली (Deletion Anomaly) कहते हैं।

Leave a Comment