what is ponter in c in hindi-पॉइंटर क्या होता है?

हेल्लो दोस्तों आज के इस पोस्ट में आपको ponter in c in hindi के बारे में बताया गया है की इसे कैसे प्रयोग करते है तो चलिए शुरू करते है

pointer का परिचय

pointer वह variable आपका होता है जो की दुसरे variable के address को स्टोर करता है जैसा की आपको पता होगा की variable की मेमोरी में एक unique address होता है जो की address आपका hexadecimal form में होता है इसलिए इस address को आप किसी भी नार्मल variable में स्टोर नहीं कर सकते है

किसी भी variable की address को स्टोर करवाने के लिए आप को pointer variable को क्रिएट करते है जैसे की मान ले की आपने एक variable को क्रिएट किया है और इस variable का आपका age है और इसमे 55 value को assign कर दिया गया है

इस variable की मेमोरी में लोकेशन (address) को 21F है अब यदि आप चाहे तो इस address को एक pointer variable में स्टोर करवा सकते है

advantage of using pointer

1.pointer की सहायता से आप dynamically मेमोरी में allocate कर सकते है

2.pointer की सहायता से आप डाटा structure(linked-list,stack ,queue) को क्रिएट कर सकते है

3.pointer का प्रयोग करने से आप प्रोग्राम का execution time आपका कम हो जाता है

4.pointer की सहायता से argument को passing के दौरान ही आप variable को copy के बजाय आप original variable पर काम कर सकते है

5.pointer की मदद से आप function से एक से अधिक value को आप return कर सकते है

6.pointer के द्वारा large data को search और sort करना बहुत ही आसान होता है

disadvantage of using pointer

1.कई बार pointer की वजह से प्रोग्राम में ऐसी भी error आ जाती है की जिसे diagnose करना बहुत ही difficult हो जाता है

2.pointer की वजह से मेमोरी में leaks को क्रिएट हो जाती है

3.यदि run time के दौरान pointer को होल्ड करने के लिए extra मेमोरी न हो तो प्रोग्राम क्रेश हो जाता है

4.यदि pointer की मदद से restricted म्र्मोरी को एक्सेस किया जा सकता है

working with pointer

यदि आपको एक ही बार ठीक से समझ में आ जाये तो pointer के साथ काम करना बहुत ही आसान हो जाता है c language में pointer के साथ काम करने के 2 steps को दिया गया है

1.declaring a pointer

2.initializing a pointer

declaring pointer

यदि c में pointer को declare करने के लिए सबसे पहले आप डाटा टाइप को declare करते है और ऐसा इसलिए किया जाता है की क्योकि int टाइप का pointer variable को सिर्फ int टाइप के variable का ही address को स्टोर कर सकता है

data_type *pointer_name;

इसे भी जाने

इसके लिए आप asterisk(*) ऑपरेटर का प्रयोग किया जाता है जिसे declare करते है इस ऑपरेटर के बाद आप pointer का नाम को declare करते है और एक pointer variable को कोई भी नाम दिया जा सकता है लेकिन variable के नाम से match नहीं होना चाहिए और पुरे प्रोगरा में unique होना चाहिए

/*pointer of integer variable*/
int *int_pntr;
/*pointer of double variable */
double *dbl_pntr*;
/*pointer of character variable */
char *chr_pntr;

initializing pointers

c में pointer initialize करने के लिए सबसे पीला आप pointer variable को लिखते है जैसे की (initialization part में pointer variable को बिना askerisk ऑपरेटर (*) के लिखा जाता है) इसके लिए  assignment ऑपरेटर (=) को लिखते है

pntr_variable=&variable_name;

इसके बाद आप ampersand operator(&) (इसे address of operator भी कहा जाता है) जो डिफाइन करते है की इस ऑपरेटर के बाद आप बिना कोई space दिए variable का नाम लिखते है

/*declaring variable */
int age=55;
/* declaring pointer variable */
int * age_pntr;
/* initializing pointer variable */
age-pntr = &age;

pointer में operator का प्रयोग

1.&(address-of) ऑपरेटर- ये ऑपरेटर variable के address को पॉइंट करता है इससे से आप किसी भी variable के address को प्राप्त कर सकते है

2.*(value-at) operator-ये ऑपरेटर सिर्फ pointer variable के साथ ही काम करता है ये ऑपरेटर किसी भी particular address पर स्टोर की गयी value को represent करता है

example

#include<stdio.h>
int main()
{
	int age=55;
	int *pntr;
	pntr=&age;
	/*printing address of age variable*/
	printf("address of age variable is: %dn",pntr);
	/*printing value of age variable using value at operator*/
printf("value of age variable is :%d",*pntr);	
}

इस example में आप pointer के द्वारा एक variable को address और उसकी value को भी प्रिंट करवाई गयी होती है ये pointer की working का एक बहुत ही सिंपल example दिया गया है

Addess of age variable is :-1074204644

Value of age variable is :55

reference-https://www.googleadservices.com/pagead/aclk?

निवेदन:-अगर आपके लिए यह पोस्ट(ponter in c in hindi ) उपयोगी लगा हो तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले और किसी भी सब्जेक्ट(ponter in c in hindi) को पढने के लिए आप कमेंट्स के द्वारा अथवा ग्रुप(ponter in c in hindi) के द्वारा हमें बता सकते है उस सब्जेक्ट को जल्द ही अपलोड() कर दिया जायेगा

Leave a Comment