what is dns in hindi-dns domain name server क्या है?

हेल्लो दोस्तों आज के इस पोस्ट में आपको what is dns in hindi के बारे में बताया गया है की इसे कैसे प्रयोग करते है तो चलिए शुरू करते है

what is dns?

dns का पूरा नाम आपका domain name system होता है जो की domain name सिस्टम ,होस्ट names का translation IP addresses में और IP addresses का translation होस्ट name में करने में coordination करती है तो प्रत्येक domain name के minimum दो parts होते है जो एक बिंदु (.) के द्वारा विभक्त होते है यदि रिमोट मशीन logging अथवा authentication को perform कर रही है तो ip addresses का होस्ट name में translation आवश्यक होता है

domain name में एक hierachy सम्म्लिति होता है इसलिए ये unique होते है और यदि याद करने में भी सरल होते है यह ध्यान रखना important  होता है की यदि यह एक adress होता हो तो इसका unique होना आवश्यक होता है

ip addresses मुख्यत: तीन प्रकार के होते है इनको class-A,class-B और class-C में विभक्त किया जा सकता है ip addresses चार सख्या के मध्य बिंदु(.) लगाकर लिखा जाता है जैसे की 192.9.200.10

ip addresses में 0 से लेकर 255 तक की सभी सख्यो  का प्रयोग किया जा सकता है यह ip addresses हमे internet society अथवा भारत में VSNL से प्राप्त होता है चुकी ip addresses की सख्यो याद्द रखना complex होता है

अत: इस complexity को ध्यान में रखते हुए यह निश्चय किया गया है की प्रत्येक ip addresses को कोई नाम प्रदान किया जाए ताकि उन्हें याद रखने में सरलता होती है अत: प्रयेक कंप्यूटर के लिए एक अलग ip address तो स्थिर होता है परन्तु नाम कुछ भी हो सकती है

जैसे जैसे internet का विकास होता गया वैसे वैसे हजारो लाखो कंप्यूटर के आपस में जुड़ते चले गए और कंप्यूटर के नामो और ip addresses को होस्ट फाइल में रखना complex होता चला गया इस complexity को दूर करने के लिए ही domain name service-(DNS) का प्रादुर्भाव हुआ ये DNS एक प्रकार के बड़े computers होता है जिनका कार्य internet के ip addresses की जानकारी रखना होता है

इसे भी जाने –

यह domain name service –dns समूचे विश्व में अनेक computers पर बंटी हुए है और इसमे निरंतर विस्तार हो रहा है internet के विस्तार को देखने हुए internet के विकाश के लिए बनाई गए internet society ने सभी computers को विभिन्न श्रेणियो में बाटा गया है ये विशिष्ट श्रेणिया high level internet domain कहलाता है जो की ये श्रेणियो एक दुसरे से सर्वथा भिन्न होते है

इन आठ श्रेणियो के लिए पृथक dns(domain name service) जो की मस्टर नाम सर्विस(master name service) कहलाती है को internet से जोड़ा गया है mastername service अपनी श्रेणी के computers के नाम व् ip addresses के आकड़ो को अपने पास रखता है और नाम को ip addresses में परिवर्तित करके उस computers से संपर्क स्थापित करता है ये आठ श्रेणियो निम्लिखित है

  1.  .com –यह dns बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है क्योकि इसका प्रयोग व्यापारियों क्ष्रेत्रो के लिए किया जाता है अथार्त जिस address के अंत में .com लगा हुए होता है वह किसी व्यापारियो का संगठन अथवा किसी कंपनी का पता होता है जैसे की www.javahindi.com , www.allsitein.in
  2.  .edu – यह dns शैक्षणिक संस्थाओ के लिए निर्धारित किया गया है अथवा जिस address के अंत में .edu लगा हुआ हो वह किसी शैक्षणिक संस्था का पता होता है जैसे की www.oxford.edu
  3. .mil –यह dns अमेरिकी सेना संस्थाओ के लिए निर्धारित किया गया है
  4. .gov –यह dns भारतीय सरकार के लिए निर्धारित किया गया है इस domain के अंर्तगत भारतीय सरकार के मंत्रालय को सम्मिलित किया गया है जैसे www.isro.gov आदि
  5. .org –यह dns किसी ऐसे संगठन के लिए निर्धारित किया गया है की जो की व्यापारियों क्षेत्रो में नहीं है अर्थात जिस address के अंत में .org लगा हुआ होता है तो वह address एक ऐसे संगठन का होता है जो की व्यापारिक कार्य नहीं करते है जैसे की www.ilo.org यह address international श्रमिक यूनिट का होता है जो की संयुक्त राष्ट संध के अंतर्गत आता है
  6.  .net – यह dns networks के लिए निर्धारित किया गया है अथार्त जिस address के अंत में .net लगा हुआ हो तो वह address किसी नेटवर्क का होता है जैसे की www.internic.net ,www.domain.net आदि
  7.  .int —यह dns international संगठनों के लिए निर्धारित होता है यह dns सामान्यत: दो अक्षरों में प्रयोग किया जाता है जैस की .in भारत के लिए , .uk ब्रिटेन के लिए ,  .au ऑस्टेलिया के लिए आदि अत: यदि address में दो अक्षरों का कोई address देखे तो यह समझ लेना चाहिए की वह किसी राष्ट विशेष का domain होता है

उपयोक्त आठो dns पर अब इतना अधिक बोझ बढ़  गया है की ये आठ dns computers अपने द्वारा नए नाम रखने में असमर्थ हो जायेंगे वह भी अपने अन्दर स्थान के आभाव के कारण | विशेष .com क्षेत्रो का नाम service (dns ) अपनी चरम सीमा पर शीघ्र ही पहुचने वाली है अत: internet की domain name service के रख रखाव के लिए बनि कमेटी internet एड हांक कमेटी ने internet में निम्लिखित सात नई dns को सम्मिलित करने का निर्णय किया

  1. .firm –यह व्यापारियों अथवा साझेदारी की व्यापारिक संस्था के लिए निर्धारित किया गे dns है
  2.  .store –यह व्यापारियों विक्रय केन्द्रों के लिए निर्धारित किया गया dns है
  3.   .web –यह internet अथवा world wide web से सम्बंधित किसी क्षेत्री में कार्य करने वाली संस्थाओ के लिय निर्धारित किया गया dns है
  4.  .arts –यह कला के क्षेत्रो में कार्यत किसी सस्ता के लिएय निर्धारित किया  गया dns है
  5.   .rec –यह किसी भी मनोरंजन की श्रेणी के कार्य के अंतगत आने वाली sites के लिए निर्धारित किया गया dns है
  6.  .info –यह ऐसी संस्थाओ के लिए निर्धारित किया गया dns है जो की सूचनाओ प्रदान करें का कार्य करती है
  7.  .nom –यह उन व्यक्तियों के लिए निर्धारित किया गया dns हा जो की अपने पृथक नामक्रम के अंतर्गत स्वयम को परिचित कराना चाहते है तो इस dns का उद्धेष्ट व्यक्तिगत विशेषता को बढ़ावा देना है

इन सात नए domain name service (dns) के प्रारंभ होने से स्पस्ट है की internet का विस्तार अत्यंत तीव्र गति से हो रहा है

domain name दो अथवा अधिक भागो ,जिन्हें तकनिकी रूप में labels कहा जाता है से मिलकर बना होता है जो पारम्परिक रूप से एक डॉट(.) के द्वार पृथक किये होते है जैसे की javahindi.com

सबसे दाई ओर का label टॉप-लेवल डोमेन (Top-Level Domain) को दर्शाता है domain name www.javahindi.com में (top-level-domain) com है।

डोमेन्स(Domains) का अनुक्रम (Hierarchy) दाई ओर से बाईं ओर को घटता है। बाईं ओर का प्रत्येक लेबल (Labels, ओर के डोमेन (Damain) का सबडिविजन (Subdivision) अथवा सबडोमेन (Subdomain) होता है।

उदाहरण के लिएए www.javahindi.com में javahindi लेबल (Label) com डोमेन (Domain) का

subdomain दर्शाता है और www लेबल (Label) javahindi.com के सबडोमेन (Subdomain) को।

सैध्दांतिक रूप से यह subdrivision 127 स्तर (Level) तक जा सकता है। प्रत्येक लेबल (Label) में 63 characters हो सकते हैं। पूरा डोमेन नेम (Domain Name) 253 characters से अधिक का नहीं हो सकता।

एक होस्ट नेम (Host Name) एक डोमेन नेम (Domain Name) को दर्शाता है, जिसके साथ एक अथवा अधिक IP एड्रेसेज़ (IPAddresses) जुड़े होते हैं।

उदाहरण के लिए. डोमेन नेम्स (Domain Names) www.javahindi.com और javahindi.com दोनों होस्ट नेम्स (Host Names) भी हैं, जबकि com नहीं है।

reference-https://www.cloudflare.com/en-in/learning/dns/what-is-dns/

निवेदन:-आप सभी छात्र –छात्रों से निवेदन है की अगर आपको ये Topic( what is dns in hindi ) अच्छा लगा हो तो कृपया आप इस वेबसाइट के बारे में अपने दोस्तों को जरुर बताये अगर कोई topic( what is dns in hindi ) से संबधित प्रश्न हो तो कमेंट्स(comments) आपके लिए ही बना है और किसी Subject( what is dns in hindi ) के लेकर भी कोई प्रश्न(what is dns in hindi) हो तो कमेंट करे

Leave a Comment